Sunday, November 30, 2008

बस मुक्ति.....

कमजोर गृहमंत्री से छुटकारा

4 comments:

संदीप पाण्डेय said...

आमीन!!!!!!!!!!!

परमजीत बाली said...

बधाई!!

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

बर्वाद चमन को करने को एक ही उल्लू काफी है .
यहाँ हर डाल पर उल्लू बैठा है अंजाम ऐ गुलिस्तान क्या होगा

shyam kori 'uday' said...

... छा गये!