Sunday, January 03, 2010

चेतन भगत कह रहे हैं 'पढ़ो तब बोलो..'

हाल ही में प्रदर्शित फिल्म '3 इडियट्स' की कहानी को लेकर विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। लेखक चेतन भगत का कहना है कि यह फिल्म उनकी किताब 'फाइव प्वाइंट समवन' की कॉपी है, जबकि फिल्मकार विधु विनोद चोपड़ा इससे पूरी तरह सहमत नहीं है। भगत ने अपने ब्लॉग पर पूरे मामले पर विस्तार से लिखा है।



भगत ने अपने ब्लॉग 'चेतन भगत डॉट कॉम' पर लिखा है कि बिना किताब पढ़े किसी को भी टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा, "मेरी किताब को दुनिया भर में लाखों लोगों ने पढ़ा है। अगर आप इसकी कहानी को कॉपी करके कोई फिल्म बनाएंगे और उसे मौलिक कहेंगे तो लोग पकड़ ही लेंगे।"


गौरतलब है कि शुक्रवार शाम नोएडा में एक संवाददता सम्मेलन में जब एक पत्रकार ने चोपड़ा से पूछा कि क्या उनकी फिल्म भगत की किताब पर आधारित है तो वह चिढ़ गए और उन्होंने पत्रकार को अपना 'मुंह बंद' रखने के लिए कहा था। चोपड़ा उस वक्त आपे से बाहर हो गए थे जब उनसे पूछा गया कि उनकी फिल्म का 70 प्रतिशत हिस्सा भगत की किताब पर आधारित है।


भगत का दावा है कि पहले चार दिनों में 100 करोड़ रुपये का कारोबार कर चुकी फिल्म '3 इडियट्स' का ज्यादातर हिस्सा उनकी किताब से लिया गया है। इस संबंध में सवाल पूछे जाने पर बौखलाए चोपड़ा ने एक पत्रकार से कहा, "क्या आपने फिल्म देखी है या किताब पढ़ी है?"

चोपड़ा ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में भगत पर आरोप लगाया था कि उन्होंने उनसे संपर्क नहीं किया था। इस संबंध में भगत ने लिखा, "मैं ऐसे निराधार बयानों पर कुछ भी कहना नहीं चाहता हूं। वैसे मैं इस संबंध में दो बिंदुओं पर बात करना चाहूंगा। मैंने उनसे एसएमएस के जरिए संपर्क किया था, वह भी फिल्म के प्रीमियर से पहले। लेकिन मुझे कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद मैंने उन्हें दो ई-मेल भी भेजे थे। "


अपने प्रशंसकों का शुक्रिया अदा करते हुए भगत ने कहा, "मुझे समर्थन देने के लिए आप सभी का शुक्रिया। तथाकथित शक्तिशाली लोगों के बावजूद आप मेरे साथ खड़े हैं, इसके लिए मैं आप सभी का आभारी हूं। मैं तो बस यही कहूंगा कि बिना किताब को पढ़े कोई इस प्रकरण पर टिप्पणी नहीं करे।"

उधर, इस मसले पर अभिनेता आमिर खान ने अपने ब्लॉग पर कुछ भी नहीं लिखा है लेकिन उनके पुराने लेख पर ही लोगों ने सैंकड़ों टिप्पणी की है, जिसमें उनसे फिल्म की मौलिकता को लेकर स्पष्टीकरण मांग गया है। फिरोज नाम के एक व्यक्ति ने टिप्पणी की है, "आमिर आपको सच से भागना नहीं चाहिए। लोगों ने भगत की किताब पढ़ी है और फिल्म भी देखी है।"


अभिषेक की टिप्पणी है, "आमिर आपके ब्लॉग पर मेरी यह अंतिम टिप्पणी है। शुक्रवार को नोएडा के संवाददता सम्मेलन में आपने झूठ बोला। मैंने किताब पढ़ी है और मेरा मानना है कि '3 इडियट्स' भगत की किताब पर आधारित है। वैसे मुझे पता है कि आप इस पर विश्वास नहीं करेंगे क्योंकि मैं आपको करोड़ों रुपये नहीं दे रहा हूं न!"

ब्लॉग जगत में इन दिनों 3 इडियट्स के विवाद पर जमकर पोस्टबाजी हो रही है। आप इस संबंध में विस्तार से मेरी रपट जागरण हिंदुस्तान लाइव और समय लाइव पर पढ़ सकते हैं।

4 comments:

Udan Tashtari said...

अभी कुछ दिन और उछलता रहेगा यह विवाद!!

मनोज कुमार said...

अच्छी पोस्ट लिखी है।

VIJAY THAKUR said...
This comment has been removed by the author.
VIJAY THAKUR said...

मैनें क्या जिसने भी भगत की किताब पढ़ रखी है, हर कोई कहता है कि फिल्म उसी कहानी पर आधारित है। भगत की यह कहानी इतना गुमनाम भी नहीं कि आमिर या कोई और Three idiots को मौलिक बोल दे।
वैसे तो आमिर खान सही बात को Appreciate करने के लिए मशहूर हैं लेकिन इस मुद्दे पर उनका रवैया बिल्कुल उलट है। कहीं ये Hype इन दोनों का Publicity Stunt तो नहीं कि जिसने किताब पढ़ी हो वो फिल्म देखने को मजबूर हो और जिसने फिल्म देखी वो किताब पढ़ने पर मजबूर हो।